Government SchemeGrowth

Crop Insurance Status: 49 लाख किसानों के खातों में 2500 करोड़ रुपये की फसल बीमा राशि जमा की गई, पात्र किसानों की सूची देखें।

Crop Insurance Status Check: फसल बीमा योजना किसानों को अत्यधिक वर्षा, बाढ़, सूखा, कीट और बीमारियों जैसी प्राकृतिक आपदाओं के कारण फसल के नुकसान से बचाती है। इस योजना के तहत बीमित किसानों को फसल नुकसान का मुआवजा मिलता है।

फसल बीमा राशि जमा की गई सूची मे अपना नाम ,

देखने के लीए यहा क्लिक करे

इस साल राज्य में भारी बारिश के कारण खरीफ फसलों को बड़े पैमाने पर नुकसान हुआ है. इस फसल के नुकसान का आकलन कर बीमा का अग्रिम भुगतान स्वीकृत कर दिया गया है. इस राशि से किसानों को कुछ आर्थिक राहत मिलेगी महाराष्ट्र सरकार ने राज्य भर में 49 लाख से अधिक किसानों को फसल बीमा राशि मंजूर की है। इसमें बुलढाणा जिले के 36 हजार 358 किसानों के 18 करोड़ 39 लाख शामिल हैं. अग्रिम फसल बीमा राशि लाभार्थियों के बैंक खाते में जमा होना शुरू हो गई है।

योजना का उद्देश्य :

  • प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (पीएमएफबीवाई) का उद्देश्य कृषि क्षेत्र में टिकाऊ उत्पादन का समर्थन करना है
  • अप्रत्याशित घटनाओं से उत्पन्न फसल हानि/नुकसान से पीड़ित किसानों को वित्तीय सहायता प्रदान करना
  • खेती में उनकी निरंतरता सुनिश्चित करने के लिए किसानों की आय को स्थिर करना ग) किसानों को नवीन और आधुनिक कृषि पद्धतियों को अपनाने के लिए प्रोत्साहित करना
  • कृषि क्षेत्र में ऋण का प्रवाह सुनिश्चित करना; जो किसानों को उत्पादन जोखिमों से बचाने के अलावा खाद्य सुरक्षा, फसल विविधीकरण और कृषि क्षेत्र की वृद्धि और प्रतिस्पर्धात्मकता को बढ़ाने में योगदान देगा। Fasal Bima yojana

पोस्ट ऑफिस की इस स्कीम में रोजाना जमा करें बस 100 रुपये,

इतने दिनों में मिलेंगे 8 लाख रुपये, जानिए फायदे

Crop Insurance Satus New List :

नई सूची फसल बीमा जीआर यानी सरकारी निर्णय 10 अप्रैल 2024 को जारी किया गया है। साथ ही मार्च 2024 से राज्य के विभिन्न जिलों में बेमौसम बारिश के कारण फसल और अन्य क्षति के लिए प्रभावित लोगों को राहत प्रदान करना। फसल बीमा स्थिति सरकार ने राज्य आपदा मोचन निधि से कुल 17780.61 लाख रुपये (177 करोड़, 80 लाख, 61 हजार रुपये) के वितरण को भी मंजूरी दे दी है

 मात्र ₹10 हजार से शुरू करें घरेलू बिजनेस,

हर महीने कमाएं 30 हजार!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles